आगामी फरवरी में राजधानी में जुटेगा पांच लाख जनसमूह

Please follow and like us:
1
https://www.youtube.com/embed/z95RiEFvXbc
ऐसा काम करें कि समाज का ऋण भी चुकता हो जाए : लालाराम मीणा
– मीना समाज सेवा संगठन की मासिक बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय
भोपाल। अपने लिए और अपने परिवार के लिए तो हर व्यक्ति नौकरी, व्यापार, कृषि और अन्य उद्यम करता है। जीवन का असली आनंद तो तब है, जब हम परिवार पोषण के साथ-साथ अपने समाज के प्रति भी कुछ ऐसा काम करें, जिससे समाज का ऋण चुकता हो जाए। दरअसल समाज सेवा भी ईश्वर सेवा के समान ही है। ये विचार रविवार को हमीदिया रोड बाल विहार स्थित मीना भवन में आयोजित मीना समाज सेवा संगठन की मासिक बैठक में संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व न्यायाधीश लालाराम मीणा ने संगठन पदाधिकारियों को प्रेरणा देते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि कई सालों से समाज के छात्र-छात्राओं के लिए राजधानी में छात्रावास की बड़ी समस्या थी। इसके निराकरण के लिए संगठन महामंत्री संतोष मीना एडवोकेट, कोषाध्यक्ष जगदीश मीणा, संगठन मंत्री अमृतलाल मीना, उपाध्यक्ष लीलेंद्र मारण सहित संगठन के सभी पदाधिकारियों और प्रत्येक सदस्य ने संकल्प लिया और गत स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मिसरोद में छात्रावास निर्माण की नींव रख दी। इतना ही नहीं पदाधिकारियों द्वारा बड़े पैमाने पर दिए जा रहे आर्थिक सहयोग से इसका निर्माण कार्य भी शुरू हो गया है। उन्होंने विश्वास जताया कि तीन करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस छात्रावास के निर्माण के लिए प्रदेश के सभी जिलों से सहयोग राशि देने का सिलसिला जारी है। उन्होंंने समाज के प्रत्येक सदस्य से आव्हान किया कि समाज विकास के सहयोग राशि की कोई सीमा नहीं होती है, जो जितना, जैसे चाहे और जब चाहे सहयोग कर सकता है। समीक्षा बैठक में संगठन के संरक्षक और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी दादा पन्नालाल मीणा, प्रदेश उपाध्यक्ष लीलेंद्र मारण, संगठन महामंत्री एडवोकेट संतोष मीना, छात्रावास निर्माण समिति अध्यक्ष अमृतलाल मीणा, संगठन मंत्री मानसिंह रावत, भगवानसिंह मीणा, रामस्वरूप मीणा तथा विश्रामसिंह मीणा, प्रदेश प्रचार मंत्री भैयालाल मारण, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष हरभजन मीना अग्निहोत्री, ग्रामीण जिला उपाध्यक्ष कमलसिंह मीणा, युवा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष भगवानसिंह मीणा, जिला अध्यक्ष शेरू मीना, प्रबंधक हृदयेश मीणा, प्रदेश कार्यालय मंत्री पदमसिंह मीणा, विष्णुप्रसाद मीना एवं प्रवक्ता बृजेश मीणा सहित पीआरओ रामसिंह मीणा, गोविन्दसिंह मीना, आनंद मीना, सुनील, दीपेश, मनोज, शैलेंद्र, पवन, दीपक, राकेश, रवि, अरविन्द मीना, नारायणसिंह मीना और बड़ी संख्या में समाज बंधु मौजूद थे।
आय का चौथाई हिस्सा समाज विकास के लिए :
समीक्षा बैठक के दौरान संगठन के प्रदेश कोषाध्यक्ष जगदीश मीणा ने वह अपने समाज की प्रगति और भावी पीढ़ी के विकास के लिए पूरी तरह समर्पित हैं। उन्होंने समिति के समक्ष संकल्प लिया कि भविष्य में उनके वेतन और कृषि सहित परिवार की समूची आय का 25 प्रतिशत हिस्सा समाज विकास के कार्यों के लिए सहयोग के रूप में हमेशा सुरक्षित रहेगा। उनके संकल्प लेते ही बैठक कक्ष में हर्ष और उतसाह का वातावरण बन गया तथा बैठक में मौजूद समाजबंधुओं ने करतल ध्वनि से उनके इस संकल्प का स्वागत किया।
सभी संभाग प्रभारी सक्रिय हों :
बैठक में पदाधिकारियों के कार्यकलापों की समीक्षा करते हुए प्रदेश अध्यक्ष लालाराम मीणा ने संभाग प्रभारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि वे अपने प्रभार वाले जिलों में सक्रिय हों और जिला स्तर से लेकर ग्राम पंचायत स्तर संगठन की कार्यकारिणी का गठन कर युवाओं को संगठन से जोड़ें। उन्होंने कहा कि सक्रियता के मामले में गुना जिला सबसे आगे है, जबकि सीहोर जिला सबसे पीछे। प्रदेश अध्यक्ष ने आगामी वर्ष फरवरी 2018 में राजधानी में होने वाले समाज के विशाल राष्टÑीय सम्मेलन की तैयारियों को लेकर भी प्रगति की समीक्षा की और पदाधिकारियों को उचित निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में कम से कम पांच लाख से अधिक समाजबंधुओं को शामिल होना है।

707 total views, 1 views today

Related posts: