चुनाव से पहले की हिंसा पर उतरे छात्र संगठन

Please follow and like us:
1
https://www.youtube.com/embed/z95RiEFvXbc

प्रशासन के सख्त पहरे में होंगे छात्र संघ चुनाव
-चुनाव से पहले की हिंसा पर उतरे छात्र संगठन
– नीमच में गोली लगने से एक छात्र की मौत
भोपाल। मप्र में महाविद्यालयों में होने जा रहे छात्र संघ चुनाव की प्रशासन ने सभी तैयारियां पूर्ण कर ली हैं। सोमवार 30 अक्टूबर को प्रशासन की कड़ी निगरानी में छात्रों के चुनाव संपन्न कराए जाएंगे। सुबह 8 बजे से 10 बजे तक मतदान किया जाएगा। इसके बाद इसी दिन मतगणना की जाएगी और उसी दिन शपथ ग्रहण भी सम्पन्न कराई जाएगी। इधर, प्रदेश में राजनीतिक अखाड़ा बनते जा रहे छात्र संघ चुनाव के पहले ही हिंसा होने लगी है और इस दौरान छात्रों को जान भी गंवानी पड़ रही है। प्रदेश में छात्रसंघ चुनाव से पहले हिंसा, विरोधियों को धमकाकर फायर करने जैसी घटनाएं सामने आ रहीहैं। यही कारण है कि नीमच के जावद में दो दिनों से छात्र नेताओं में चल रहे टकराव और खूनी संघर्ष में एक छात्र की गोली लगने से मौत हो गई। छात्र संघ चुनाव के लिए एनएसयूआई और एबीवीपी ने एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एनएसयूआई ने तो इस चुनाव को बेईमानी का चुनाव घोषित करते हुए सरकार से मांग की है कि चुनाव सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में हो। बता दें कि प्रदेश में हो रहे छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी और एनएसयूआई में कड़ी टक्कर नजर आ रही है। एनएसयूआई ने एक ओर जहां पूरी कांग्रेस को साथ में लिया है। वहीं एबीवीपी ने अपने पूर्व कार्यकर्ताओं को काम में लगाया है, जिससे छात्रसंघ चुनाव राजनीतिक चुनाव बन गए हैं।

– विरोधियों को धमकाने किए फायर ने ली समर्थक की जान
छात्रसंघ चुनाव में अब हिंसा का रूप लेने लगी है। मध्य प्रदेश के नीमच जिले के जावद में शनिवार देर रात गोली लगने से राहुल बंजारा नाम के छात्र की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि राहुल बंजारा हिंदू छात्र सेना से जुड़ा हुआ था। इस हिंदू छात्र सेना का संचालक पटवारी नवीन तिवारी है। सरकारी सेवा में जुड़े होने के बावजूद नवीन तिवारी इस संगठन को संचालित कर रहा है। उसने छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी और एनएसयूआई के खिलाफ दमदारी से अपने उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। बताया जा रहा है कि शनिवार रात को नवीन तिवारी ने ही कथित तौर पर विपक्षी उम्मीदवारों को धमकाने के लिए अवैध हथियार से हवाई फायर किया था। हालांकि, हथियार से गोली नहीं निकली और ‘मिस फायर’ हो गया। कुछ देर बाद अचानक नवीन के पास रखे हथियार से गोली चल गई और पास ही खड़े राहुल बंजारा को पेट में जाकर लगी। नवीन और उसके साथी तुरंत राहुल को नीमच जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने नवीन तिवारी को हिरासत में ले लिया है। लेकिन, हाईप्रोफाइल मामला होने की वजह से पुलिस का कोई भी अफसर इस मुद्दे पर बात करने के लिए राजी नहीं है। जांच का हवाला देकर सभी ने चुप्पी साध ली है।

शिक्षा मंत्री के पीए एबीवीपी के पक्ष में प्राचार्यों से बनवा रहे माहौल : एनएसयूआई
इधर, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष विपिन वानखेड़े ने आरोप लगाया है कि उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया के पीए सभी शासकीय कालेजों के प्राचार्यों को फोन लगाकर एबीवीपी के पक्ष में माहौल बनाने का दबाव बना रहे है। विपिन वानखेड़े के मुताबिक छात्रसंघ चुनाव की प्रक्रिया संभालने वाले कई प्रोफेसर संघ प्रमुख के आयोजन में आरएसएस की वेशभूषा में नजर आ रहे हैं। ऐसे में चुनाव निष्पक्षता के साथ सम्पन्न होगा इसके आसार नहीं है। वानखेड़े ने सीसीटीवी की निगरानी में चुनावी प्रक्रिया करवाने की भी मांग की है। यही नहीं एनएसयूआई ने  नामांकन फॉर्म भरने के दौरान कालेजों की भूमिका पर भी कई सवाल खड़े किए हैं।

एनएसयूआई की मदद के लिए बड़े नेताओं ने संभाला मोर्चा
छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई की मदद के लिए कांग्रेस और युवक कांग्रेस ने मैदान संभाल लिया है। इनके साथ ही कांग्रेस से जुड़े अनुसांगिक संगठन के पदाधिकारियों ने मोर्चा संभाल लिया है, वहीं बड़े कांग्रेस नेताओं ने बयानों के तीर चलाना शुरू कर दिए हैं। बड़े कांग्रेसी नेताओं ने छात्रसंघ चुनाव को लेकर मैदान संभाल लिया है, ताकि कॉलेजों में होने वाले चुनाव में एनएसयूआई की मदद की जा सके।

226 total views, 1 views today

Related posts: