माता वैष्णो देवी की छठवीं महायात्रा 24 फरवरी को रवाना होगी

Please follow and like us:
1
https://www.youtube.com/embed/z95RiEFvXbc

माता वैष्णो देवी की छठवीं महायात्रा 24 फरवरी को रवाना होगी

ड्रा के माध्यम से हुआ 121 भाग्यशाली श्रद्धालुओं का चयन

-राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता और मेहंदीपुर बालाजी से पधारे मामा अतुल ठाकुर ने दी सेवाएं

भोपाल। ‘चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है।’ विश्व प्रसिद्ध देवी भजन गायक नरेंद्र चंचल के इन बोलों को पिछले पांच साल से सार्थक कर रहा है राजधानी की अग्रणी संस्था ‘श्री माता वैष्णों देवी भक्त सेवा समिति’।  जी हां, समिति के माध्यम से हर साल 24 फरवरी से 1 मार्च तक होने वाली एक सप्ताह इस नि:शुल्क महायात्रा मेंअब तक करीब एकहजार से अधिक श्रद्धालुओं ने माता वैष्णो देवी के दर्शन कर जीवन को सार्थक बनाया है। समिति के अध्यक्ष एवं महायात्रा प्रबंधक विजय खंडेलवाल ने बताया कि देवी दर्शन को जाने वाले श्रद्धालु भक्तों में 40 से 60-70 साल तक आयु वर्ग के ये वे लोग हैं, जो या तो आर्थिक विपन्नता के चलते अब तक माता के दर्शन लाभ से वंचित हों या जिन्होंने पारिवारिक विपरीत परिस्थितियों या गरीबी अथवा अन्य किसी कारणवश अब तक माता के दरबार में न पहुंच सके हों।

ड्रा से हुआ श्रद्धालु यात्रियों का चयन :

हर साल की तरह इस बार छठवीं महायात्रा के लिए भी ड्रा के माध्यम से ही भाग्यशाली श्रद्धालु यात्रियों का चयन किया गया। इसके लिए रविवार (15 अक्टूबर)को ‘श्री माता वैष्णों देवी भक्त सेवा समिति’ के पत्रकार कालोनी स्थित मुख्य कार्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता एवं विशेष अतिथि के रूप में मेहंदीपुर बालाजी धाम से पधारे मामा अतुल ठाकुर तथा नागपुर से पधारे शंकरलाल मीठी की विशेष मौजूदगी में ड्रा निकालकर 121 भाग्यशाली श्रद्धालुुओं का चयन किया गया। ड्रा में पहला भाग्यशाली नाम जवारीलाल कोरकू का घोषित किया गया, जिसका कूपन नंबर 296 था। दूसरा कूपन 315 में खिलानसिंह लोधी और तीसरा कूपन 32 नंबर का मुन्नालाल के नाम से निकला। इसी तरह एक-एक कर सभी श्रद्धालुओं के नामों की घोषणा की गई। ड्रा से पहले कार्यक्रम के शुभारंभ में राजधानी के सुप्रसिद्ध भजन गायक रवि खरे द्वारा माता के भजन प्रस्तुत किए गए, जिससे समूचा वातावरण माता के जयकारे से गूंज उठा। वहीं माता दुर्गा, माता काली और माता सरस्वती के स्वरूप में मौजूद तीन कन्याओं की पूजा के साथ मां वैष्णो देवी के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर लोकदेश के विशेष प्रतिनिधि सुनील त्रिवेदी, भाजपा जिला उपाध्यक्ष लीलेन्द्रसिंह मारण सहित इस महायात्रा में पिछले छह साल से श्रद्धालुओं की सेवा कर रहे विशेष सेवादारों को सम्मानित भी किया गया।

माता वैष्णो देवी की छठवीं महायात्रा 24 फरवरी को रवाना होगी

श्री खंडेलवाल ने कहा कि जिस किसी भी व्यक्ति को माता का बुलावा आता है, वह किसी न किसी बहाने से माता के दरबार पहुंच ही जाता है। हम तो केवल निमित्त मात्र हैं। उन्होंने कहा कि ड्रा में चयनित यात्री भक्तों को चयन के साथ ही एक किट उपलब्ध कराई जा रही है। इस किट में जूट का बैग, विजिटिंग कार्ड, जय माता दी कैप के साथ ही भोजन, नाश्ता और चाय आदि के कूपन भी प्रदाय किए जाएंगे।

महायात्रा में शामिल मंडल के सदस्य :

छठवीं महायात्रा के दौरान श्री माता वैष्णों देवी भक्त सेवा समिति के लगभग 45 सदस्य भी यात्री भक्तों की सेवा-सुश्रुषा में तैनात रहेंगे। इनमें 11 व्यवस्थापक, 11सक्रिय सदस्य और 11 सेवादार होते हैं। इसके अलावा 6 सदस्यीय भजन मंडली, 4 सदस्य ढोल वाले, एक फोटोग्राफर, एक वीडियोग्राफर एवं एक डॉक्टर सहित संस्था का ही एक पुरोहित भी साथ रहेंगे, जो 6 दिवसीय महायात्रा के दौरान विभिन्न स्थानों पर पूजा आदि संपन्न कराएंगे। उन्होंने बताया कि इन सभी का चयन किया जा चुका है।

शोभायात्रा के रूप में पहुंचेंगे स्टेशन :

माता वैष्णों देवी महायात्रा के लिए सभी यात्री 24 फरवरी 2018 को दोपहर 12 बजे तक न्यू मार्केट स्थित श्री खेड़पाति हनुमान मंदिर में एकत्र होंगे। यहां मंदिर में महाआरती के उपरांत भव्य शोभायात्रा के रूप में सभी यात्री पैदल चलकर मुख्य रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे। इस दौरान मार्ग में जगह-जगह धर्मप्रेमी नागरिकों और विभिन्न संस्थाओं द्वारा पुष्पवर्षा कर और अन्य आयोजनों के साथ शोभायात्रा का स्वागत किया जाएगा।

 

 

240 total views, 2 views today

Related posts: