राजधानी के सरकारी अस्पतालों के हाल बदहाल

Please follow and like us:
1
https://www.youtube.com/embed/z95RiEFvXbc

मरीजों को नहीं मिलता उचित इलाज
-सीएम और मंत्री के दौरे के बाद भी हालात जस के तस
-मजबूरन निजी अस्पताल की शरण लेते हैं मरीज
भोपाल। राजधानी के हाल किसी से छिपे नहीं हैं। यहां आए दिन कोई न कोई लापरवाही सामने आती रहती है। चाहे वह हमीदिया अस्पताल हो या फिर जेपी अस्पताल हो। इनके अलावा राजधानी की अन्य अस्पतालों में भी अव्यवस्था के नजारे आए दिन सामने आते रहते हैं और मरीजों को इन व्यवस्थाओं से दो-चार होना पड़ता है। मरीजों को उचित इलाज नहीं मिल पाने से दर-दर भटकते हैं। हमीदिया अस्पताल में तो सीएम और स्वास्थ्य मंत्री के दौरे के बाद भी हालात जस के तस बने हुए हैं। इधर, जयप्रकाश अस्पताल में भी आए दिन लापरवाही के मामले सामने आते हैं। वहीं हाल ही में यहां सरकारी अस्पतालों में आॅक्सीजन सिलेंडर की लापरवाही उजागर हुई है। सुल्तानिया अस्पताल में सिलेंडर खाली मिले थे तो कमला नेहरू में एक साल से इन सिलेंडरों की जांच तक नहीं की गई थी। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सरकार राजधानी की अस्पतालों में लगाम कसने और मरीजों को सुविधाएं मुहैया कराने में नाकाम है। इन अस्पतालों में मरीजों की जान से खिलवाड़ करना निरंतर जारी है।

298 total views, 1 views today

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published.